त्वचा के लिए बड़े काम के हैं ये 5 तेल Essential Oils for Skin in Hindi

शेयर अवश्य करें

Essential Oils for Skin in Hindi

सर्दियाँ किसको नहीं भातीं. सर्दियों में पसीने और बदबू वाली गर्मी से राहत तो मिलती ही है, पाचन तंत्र भी ठीक से काम करने लगता है, जिससे शरीर गर्मियों में पसीने के रूप में गँवाई ताकत को दोबारा प्राप्त करता है. लेकिन वहीँ सर्दियों में त्वचा खुश्क हो जाती है, जिसको संभालना काफी मुश्किल होता है. लेकिन ये 5 तेल (essential oils) बड़े काम के हैं, जो सर्दियों में भी आपकी त्वचा को रखेंगे खुशनुमा.

5 essential oils for skin

ग्लिसरीन Essential Oils

ग्लिसरीन एक प्राकृतिक उत्पाद है. यह गाढ़ा और चिपचिपा तरल होता है. तैलीय त्वचा के लिए यह सबसे अच्छा होता है. जिनकी त्वचा संवेदनशील होती है, उनके लिए इस तेल का इस्तेमाल बेहद कारगर है. यह त्वचा की जलन को भी शांत करता है. ग्लिसरीन के तेल को नारियल के तेल, एलोवेरा, शहद या विटामिन ई के साथ भी मिलकर प्रयोग किया जाता है. अलग-अलग योगों में ग्लिसरीन का तेल त्वचा के लिए मोइचराइजर का काम करता है और त्वचा को चमकदार बनाता है. ग्लिसरीन को नारियल के तेल के साथ मिलाकर मसाज करने से यह त्वचा को मुलायम बनाता है. ग्लिसरीन को एलोवेरा के साथ मिलकर लगाने से त्वचा का रूखापन ख़त्म होता है. शहद के साथ मिलकर लगाने से त्वचा की झुर्रियां ख़त्म होती हैं तथा विटामिन ई के साथ मिलकर लगाने से त्वचा चमकदार बनती है.  ग्लिसरीन को नीम्बू के साथ मिलाकर लगाने से त्वचा की गंदगी ख़त्म होती है, जिससे कील मुहांसों को ख़त्म करने में सहायता मिलती है.

 

anti ageing oil

करंज का तेल Karanj Essential Oil

करंज के बीजों से निकला यह तेल आपकी त्वचा और बालों के लिए लाभदायक essential oil है. बालों में लगाने पर यह डैंड्रफ को नियंत्रित करता है. सर्दियों में यह सूखी और फटी त्वचा को मोस्चराइज करने का काम करता है. करंज का तेल जोड़ों पर भी लगाया जाता है, जिससे जोड़ों के दर्द में राहत मिलती है. करंज के तेल में नीम्बू का रस मिलाकर शरीर पर अच्छी तरह लगाने से त्वचा का सूखापन और फटी त्वचा और खुजली में राहत मिलती है. करंज का तेल गंजापन ठीक करने में भी मदद करता है.  शरीर में किसी भी कारण से किसी भी हिस्से में आई सूजन पर करंज के तेल की मालिश करने पर दर्द और सूजन को लाभ होता है. दांत में पायरिया और दर्द होने पर करंज के तेल की मालिश की जाये तो दर्द को तुरंत लाभ होता है और पायरिया जड़ से ख़त्म होता है.

karanj oil for skin

सरसों का तेल

सरसों का तेल Mustard Essential Oil  देश के 95 प्रतिशत परिवारों में खाना बनाने के काम में आता है. इसी के साथ कुछ लोग इसको सिर में भी लगाते हैं, जिससे सिर की खुश्की दूर होकर डैंड्रफ नियंत्रण में रहता है. नहाने से पहले सरसों के तेल की नियमित मालिश से हड्डियाँ मजबूत रहती हैं. सर्दियों में सरसों के तेल में शुद्ध कपूर और नीम्बू मिलकर पूरे शरीर पर मालिश करने से खुश्की के कारण होने वाली खुजली को लाभ होता है और शरीर साफ़ रहता है. फिल्टर्ड सरसों के तेल की अपेक्षा कच्ची घानी सरसों के तेल अधिक लाभदायक होता है.

नीम तेल

नीम एक सर्वश्रेष्ठ एंटीबायोटिक औषधि है. इसकी छाल से लेकर फल और पत्तियों तक शरीर के लिए लाभदायक हैं. नीम शरीर में छिपे रोगाणुओं को मारने में मदद करता है. नीम के कच्चे पत्ते खाने और नीम का तेल चेहरे पर लगाने से मुहांसों को लाभ होता है. साथ ही पूरे शरीर पर नीम का तेल लगाने पर फोड़े, फुंसी और खुजली को राहत मिलती है. नीम का तेल एंटीओक्सिडेंट का स्रोत है. यह त्वचा की कोशिकाओं को स्वस्थ रखता है, जिससे बढती उम्र में भी त्वचा पर झुर्रियां नहीं पड़तीं. सर्दियों में नीम तेल नारियल के तेल या ग्लिसरीन के तेल के साथ मिलकर लगाने से त्वचा खुश्क नहीं पड़ती.  नीम का तेल अगर नियमित रूप से चेहरे पर लगाया जाये, तो चेहरे पर कील-मुहांसे कभी नहीं होते. नीम एक अच्छा रोगाणु नाशक है. नीम के तेल को पूरे शरीर पर लगाने पर फंगस आदि की शिकायत ख़त्म हो जाती है.

जैतून का Essential Oils

भारत में जैतून (Olive Oil) का तेल सरसों के तेल की तरह खाना बनाने के लिए व्यापक रूप में प्रयुक्त होता है. जैतून के तेल में एंटीओक्सिडेंट और विटामिन ई प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं. इसलिए यह त्वचा और बालों की समस्याओं के लिए रामबाण का काम करता है. जैतून तेल पर किये गए अनुसन्धान (best essential oils for skins) बताते हैं कि जैतून के तेल में मौजूद एंटीओक्सिडेंट प्रदूषण से त्वचा की कोशिकाओं को लड़ने में मदद करते हैं और कोशिकाओं को स्वस्थ रखते हैं. त्वचा को जवान बनाये रखने के अपने गुण के कारण जैतून का तेल एंटी एजिंग क्रीम में बहुतायत से प्रयोग किया जाता है. सर्दियों में बाज़ार में उपस्थित कोल्ड क्रीम की अपेक्षा जैतून का तेल त्वचा पर लगाने पर अधिक लाभ होता है. जैतून के तेल का त्वचा पर इस्तेमाल करने से त्वचा में प्राकृतिक गोरापन और निखार आता है. जैतून का तेल एक अच्छा जीवाणु नाशक है. यह त्वचा को अनेक प्रकार के संक्रमणों से बचाकर त्वचा को स्वस्थ बनाये रखता है. यदि जैतून के तेल की मालिश त्वचा पर रोज अच्छी प्रकार से करने की आदत डाल ली जाये तो त्वचा हमेशा निखरी हुई, खिली हुई और जवान बनी रहती है.

यह भी पढ़ें :

पतंजलि निरामयम : विश्व का सबसे बड़ा 7 स्टार प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र नेचुरोपैथी सेंटर

Mamaearth Onion Hair Oil Review in हिंदी

कोरोना का नया ओमिक्रोन वेरिएन्ट

पार्किन्सन दूर करने के 3 चरण

2 thoughts on “त्वचा के लिए बड़े काम के हैं ये 5 तेल Essential Oils for Skin in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Healthnia